July 22, 2024

हिन्दी

हिन्दी

याद कर विनती

याद कर, हे परम दयालु कुँवारी मरियम, कि यह कभी सुनने में नहीं आया कि कोई तेरी मदद माँगने और तेरी विनतियों की सहायता खोजने तेरे पास आया और तुझसे असहाय छोड़ा गया हो।  हे कुँवारियों की कुँवारी, हे मेरी माँ, इसी आसरे से मैं तेरे पास दौड़ आता हूँ, और कराहते हुए पापी के… Continue reading याद कर विनती